महाकाल मंदिर में आग से जले सेवक सत्यनारायण सोनी की मौत

महाकाल मंदिर में धुलंदी के दिन गर्भगृह में आग में जले एक सेवक की मौत हो गई है। सूचना के मुताबिक, उन्हें तुरंत अस्पताल में भर्ती कराया गया था, लेकिन उनके चोट इतनी गंभीर थी कि उनकी मौत हो गई।

महाकाल मंदिर के प्रबंधन ने सत्यनारायण सोनी की मौत की सूचना प्राप्त होते ही दुख जताया। उन्होंने उनके परिवार के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त की और उनके परिवार को हर संभव सहायता की घोषणा की।

प्रशासन: घायलों को सहायता पहुंचाई जाएगी

महाकाल मंदिर के प्रबंधन ने इस दुखद घटना के बाद अन्य आगंतुकों को सुरक्षित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठाए जाएंगे। वे ने कहा कि आग के कारण हुई हानि की जांच की जाएगी और घायलों को उचित सहायता पहुंचाई जाएगी।

मध्य प्रदेश सरकार ने भी घटना की जांच करने के लिए अधिकारियों को नियुक्त किया है। सरकार ने सत्यनारायण सोनी के परिवार के साथ ही संपर्क स्थापित किया है और उन्हें हर संभव मदद की घोषणा की है।

यह घटना महाकाल मंदिर में आग के बाद हुई दूसरी दुखद घटना है। इससे पहले भी एक आग के कारण कई लोगों को चोटें आई थीं। इस घटना के बाद सुरक्षा कार्यवाहियों को और भी सतर्क रहने की जरूरत है।

आग की वजह जांची जाएगी

महाकाल मंदिर के प्रबंधन ने घायलों के परिवार को सहायता पहुंचाने का आदेश दिया है। साथ ही, आग की वजह और घटना की जांच के लिए अधिकारियों को नियुक्त किया गया है।

मध्य प्रदेश सरकार ने भी इस दुखद घटना के संबंध में संज्ञान लिया है और उन्होंने घायलों के परिवार से संपर्क स्थापित किया है। सरकार ने उन्हें हर संभव मदद की घोषणा की है।

यह घटना महाकाल मंदिर के प्रबंधन और सरकार को सतर्क बना देती है, ताकि इस तरह की दुर्भाग्यपूर्ण घटना फिर से न हो।

Leave a Comment